आज के समय में कोरोना से पुरे देश-विदेश में हाहाकार मचा हुआ है कोरोना वैक्सीन का इंतज़ार भारत सहित कई देश बड़े बेसर्बी से कर रहे है घर के सभी बड़े लोगो को यह जिम्मेदारी है की वे घर पर रहकर अपने घर की सुरक्षा करें इसी सुरक्षा में घर के बच्चे भी आते है जो स्कूल खुलने पर अपने-अपने स्कूल जायेंगे तो ऐसी महामारी में बच्चो को स्कूल भेजने से पहले कुछ ऐसी बातें बतानी होंगी जो कोरोना कल में जीवन का एक हिस्सा बने तो चलिए देखते है कौन सी है वे बातें

बच्चों को दें सोशल डिस्टेंसिंग की सलाह –
स्कूल शुरू होने से पहले बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग का महत्व समझाएं। बच्चों की डेस्क दूर-दूर रखें ताकि उनमें दूरी बनी रहेऔर हो सके तो बच्चो को अपने फ्रेंड या किसी दूसरे बच्चे से 2 गज की दूरी के लिए बोले

हाथ धोने की आदत-
बताएं कि सिस्टम, दरवाजे का हैंडल, नल का हैंडल, जैसी चीजें छूने के बाद अच्छे से हाथ जरूर साफ करें। बच्चों को कम से कम 20 सेकेण्ड तक अच्छे से हाथ धोने की आदत डालें। इसके अलावा बच्चों को हैंड सैनेटाइजर का भी इस्तेमाल करना बताएं।

मास्क पहनना जरूरी-
बच्चों को समझाएं जहां सोशल डिस्टेंसिंग संभव न हो कपड़े का मास्क लगाएं रखें। अपने बच्चे के बैग में हमेशा एक्स्ट्रा मास्क जरूर डालकर रखें ताकि अगर उसे अपना मास्क बदलना हो तो वो आराम से बदल सके। बच्चे को समझाएं कि उसे अपने दोस्तों के साथ अपना मास्क नहीं बदलना है।

झूठा खाने से करें परहेज-
बच्चों को बताएं कोविड-19 के चलते स्कूल में अपने दोस्तों के टिफिन बॉक्स से या उनका झूठा किया हुआ भोजन न खाएं और न ही कोई चॉकलेट,टॉफी या कोई अन्य आइटम न खाये

खांसते-छींकते समय कोहनी या रूमाल का इस्तेमाल-
बच्चों को समझाएं जब कभी स्कूल में उन्हें छींक या खांसी आएं तो वो अपने मुंह के पास अपने रूमाल का इस्तेमाल करें, ताकि संक्रमण दूसरे बच्चों तक न फैलें। अगर आपके बच्चो को किसी दूसरे बच्चे में खांसी,जुकाम जैसे लक्षण दिखे तो तुरंत अपने मास्टर को बोले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here