Loading...

नई दिल्‍ली।प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से किंगफिशर की जांच में खुलासा  हुआ है कि शराब कारोबारी विजय Mallya का कर्ज लौटाने का कोई इरादा नहीं है। जांच में सामने आया है कि Mallya का कंसोर्टियम से लिए गए 5,500 करोड़ रुपये देने का कोई इरादा नहीं था। वह शुरू से ही कर्ज का पैसा विदेश भेजने लगा था। भारत का करीब 9000 करोड़ रुपये लेकर देश से भागा हुआ है शराब कारोबारी विजय Mallya।

जांच में पता चला है कि कर्ज की रिस्ट्रक्चरिंग की गई फिर भी माल्या ने मुनाफे में चल रही यूनाइटेड ब्रेवरीज और समूह की अन्य कंपनियों की पूंजी को एयरलाइंस में नहीं लगाया। बावजूद इसके उसने यूनाइटेड ब्रेवरीज से किंगफिशर को 3,516 करोड़ का अनसिक्योर्ड कर्ज दिया। जिसके कारण किंगफिशर की वैल्यू और भी घट गई।

भारी मात्रा में पैसा भेजा विदेश

ईडी के अनुसार किंगफिशर को एसबीआई, पीएनबी और एक्सिस बैंक ने 3,200 करोड़ रुपये का कर्ज दिया था। माल्या ने इन पैसों का बड़ा हिस्सा विमानों के लीज रेंट और रखरखाव के नाम पर विदेश भेजना शुरू कर दिया था। केवल इतना ही नहीं उसने लीज रेंट को बढ़ा चढ़ाकर भी बताया था।

कर्जा का पैसा विदेश भेजने लगा था माल्या

ईडी की जांच में पता चला है कि माल्या ने शुरू से ही कर्ज का पैसा विदेश भेजना शुरू कर दिया था। जांच में पता चला है कि साल 2010 में रिस्ट्रक्चरिंग के बाद बैंकों ने बकाया मूलधन 6,000 करोड़ रुपये से घटाकर 5,575.72 करोड़ रुपये कर दिया था। इसके बाद दिसंबर 2010 में बंधक शेयरों का हिस्सा बेचकर कुछ रकम जुटाई गई। जिसके बाद मूलधन को और घटाकर 4,930.34 करोड़ रुपये कर दिया गया था।

ईडी का कहना है कि किंगफिशर को बार-बार याद दिलाया गया कि लीज से संबंधित दस्तावेज मुहैया कराए लेकिन कंपनी की तरफ से कोई कार्यवाई नहीं की गई। ईडी का ये निष्कर्ष है कि इस बात की योजना पहले से ही बना ली गई थी कि बैंकों से बड़ी मात्रा में कर्ज लेना है। पैसों को जालसाजी से देश के बाहर ठिकाने लगा दिया गया। वो जानबूझकर कंपनी पर कर्ज बढ़ाता जा रहा था, बावजूद इसके कि कंपनी घाटे में चल रही थी।

-एजेंसी

The post Mallya ने शुरु से ही कर्ज का पैसा विदेश भेजा, ईडी जांच में हुआ खुलासा appeared first on Legend News.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here